फुल मूवी वीडियो सेक्सी

स्वप्नात संडास दिसणे

स्वप्नात संडास दिसणे, नीरा--वो क्या है ना....मैने मम्मी को एक बात बोली....इस वजह से मुझे वो काम करने से मना नही कर पाई और वैसे भी कॉफी बनाने के लिए तो मम्मी रूही दीदी को भी मना नही करती....तो मुझे क्यो करेगी.... उसके बाद नेहा भी अपना एक बोबा निकाल कर ग्लास मे दूध भरने लग जाती है....लेकिन ग्लास अभी तक आधा भी नही भरा था.....नेहा के हाथ से ग्लास लेकर अब दीक्षा भी उसमे अपना दूध भर देती है....

मैंने अगले दिन की छुट्टी ले ली। अब मजे के लिए पूरे दो दिन हमारे पास थे। पहले शाम को मैं उसे घुमाने ले गया। उसने मेरे लिए बहुत शापिंग की। साथ में बियर की बोतलें लेकर हम घर वापस आ गए। रात को हम दोनों ने एक-एक बियर पी और खाना खाकर हम एक ही बिस्तर पर आ गए। जाते हैं बाबू जी! पर एक तकलीफ़ होगी आपको! मोटर पर जो चारपायी है ना वो टूट गयी थी इसलिये बनने के लिये गयी हुई है... आपको इसे अंदर कमरे में जो सूखे चारे का ढेर पड़ा है उसी पर चोदना पड़ेगा! वो मजदूर जाता-जाता बोला।

मम्मी--इतनी देर से नहाते नहाते बोर हो गये थे और फिर बच्चो को भूख भी लगने लगी थी इसलिए हम सब ने वापस जाने का फ़ैसला किया. स्वप्नात संडास दिसणे वो धीरे से मेरे कंधे पर अपना एक हाथ रख कर अपने साथ लाया एक खाली ग्लास मेरे सामने टॅबेल पर रख देती है....

पति पत्नी सुहागरात कैसे मनाते हैं

  1. थोड़ी देर मे जब मेरा लंड थोड़ा ढीला हुआ तो मैं बाहर निकल कर अपने रूम मे आ गया और जल्दी से अपनी पेंट उतार कर एक तरफ उछाल दी और अपने अंडरवेर को घुटनो तक सरकाकर अपना लंड बाहर निकाल लिया और शीशे के सामने खड़ा होकर मैं अपने लंड को बुरी तरह से मसल्ने लगा…
  2. उधर शीतल ने एक बच्चे को जन्म दिया। इस बार लड़का हुआ था जिसका नाम उन्होंने समीर रखा। विराज और शालू बधाई देने गए लेकिन अब उनके बीच चुदाई का रिश्ता नहीं बचा था। हाँ पर उनके बच्चों यानि कि सोनिया और राजन में दोस्ती का नया रिश्ता ज़रूर शुरू हो गया था। बीपी शोट सेक्सी मराठी
  3. मेरी बात सुनकर माँ उठी और नाइट-गाउन की डोरी खोल दी। खुले गाउन के नीचे माँ ने कुछ भी नहीं पहन । रखा था और माँ ने गाउन अपनी बाँहों से निकाल दिया और मेरे सामने मेरी माँ पूरी नंगी होकर हँस रही थी। मैं बेड पर लेट गया और माँ को मेरे चेहरे पर घोड़ी नुमा बना लिया और माँ का मुँह मेरे पैरों की ओर कर दिया। कामली--क्या जनाब आप बार बार नाराज़ होकर खड़े हो जाते है....अगर आप अपनी पत्नी को यहाँ बुलाना चाहे तो बुला सकते है....वैसे भी आप तीनो आगे से एक ही कमरे में रहोगे....तो इसमें दुविधा वाली बात कौनसी है....
  4. स्वप्नात संडास दिसणे...उन्होंने कमरा ज्यों का त्यों बन्द कर दिया । और गौर से प्रसून की समझायी हुयी बातों को याद करने लगे । तब उन्हें शान्ति से बिना कोई हंगामा किये इन्तजार करना ही उचित लगा । चाहे इस इन्तजार में दस दिन ही क्यों न लग जायें । मैंने कहा- कैसा लगा सपना? खातिरदारी में कोई कमी तो नहीं रह गई? कहीं बाद में अपनी सहेली से शिकायत न करो।
  5. विजय- मजा आ गया ना? देखा, अशोक कुमार जैसा बुड्ढा रेखा जैसी जवान लड़की को कैसे अपनी गर्लफ्रेंड बनाता है। माँ तुम भी मेरी गर्लफ्रेंड बन जाओ... इतना कहकर शीतल ने बिकिनी टॉप भी निकाल दिया और खुले आसमान के नीचे पूरी नंगी हो गई। काफी देर तक दोनों वहीं बीच पर घूमते रहे। शीतल को आज़ादी का एक नया ही अहसास हो रहा था। वो नंगी ही बीच पर दौड़ लगा रही थी समंदर की आती जाती लहरों में छई-छप्पा-छई कर रही थी। जय बहुत खुश था शीतल का ये रूप देख कर।

देसी सेक्सी वीडियो चाहिए

भाभी--ये लड़की कौन है जय....और तुम दोनो मुस्कुरा क्यो रहे हो.....अब बाहर ही खड़े रहोगे या अंदर भी आओगे....

राधा ने भी मेरी बातो का समर्थन किया और उसके बाद वो मेरे लंड को गौर से देखने लगी और फिर वो घुटनो के बल बैठ गयी और मेरे लंड को पकड़ के चूम लिया उसके बाद वो किसी प्रोफेशनल लड़की के जैसे मेरे लंड को चूसने लगी कभी वो मेरे लंड को ऊपेर से लेकर नीचे तक चाट ती तो......... साधु--हाँ ये हुई ना बात आज तू सही मायनो में एक मर्द बन गया है....अब बैठ यहाँ कुछ देर और याद कर तूने क्या किया और तेरे सगो ने क्या किया...जब तक मुझे एक हवन का निर्माण करना होगा ....

स्वप्नात संडास दिसणे,भाई दीदी जब गांर देगी तब हमलोग को भी दिलवाना । हम तो बस बाथरूम में ही देख पाते है दीदी केआम या दिन अच्छा हुआ सोई हुई रही तो डरते डरते सलवार खोल कर बूर गांर। बुर तो चोदवा कर अच्छा हो गया है।

काफी समय बाद एक औरत की बुर की भरपूर ठुकाई करके मेरा लंड भी निहाल हो चुका था ....इसलिए मै भी आंटी के साथ ही झड़ने लगा |फिर निढाल होकर आंटी के बगल में लेट गया |

में उनको बस देखता ही रह गया उनका ध्यान अपने मोबाइल में था उनके उभार ब्रा को फाड़ कर आने के लिए तड़प रहे थे तभी भाभी ने मेरी तरफ़ देख लिया ऑर वहाँ पड़ी साड़ी उठा कर अपनी चुचियों को ढकने लगी.सेक्सी वीडियो फुल एचडी मूवी

कामली--मुझे माफ़ करे जनाब शमा अभी बच्ची है और इसे ज़्यादा दर्द ना हो इसीलिए में ये शराब आप लोगो के लिए ले आई....अब आपको कोई तंग नही करेगा अब जब आप ये दरवाजा खोलेंगे....तभी ये दरवाजा खुलेगा,... मेरा मन तो यही कर रहा था कि उसे जिस तरह का डर लग रहा है वो पायल दीदी के बारे मे उसे बताकर दूर किया जा सकता है पर वो बात काजल को बताना सही नही था, पायल दीदी नाराज़ हो गयी तो क्या होगा, मैं ना इधर का रहूँगा और ना ही उधर का.. मैं परेशान हो गया और उठकर मैं छत पर चला गया.

एक पल के लिए तो मैं भी चोंक सा गया… अभी थोड़ी देर पहले तक तो वो एकदम संत बने फिर रहे थे… और अब पायल को अपनी बाहो मे भरकर वो अपनी खुद की बेहन को देखने मे लगे है…

उनकी नज़रें कभी मेरे चेहरे को और कभी काजल की जाँघो के बीच फँसे मेरे हाथ को देख रही थी, मतलब सॉफ था कि वो जान चुकी थी की मैं क्या हरकत कर रहा हूँ और उनकी आँखो मे जैसे यही सवाल था कि ‘ये क्या हो रहा है ?’,स्वप्नात संडास दिसणे में किचन में पहुँच कर देखता हूँ रूही खुद को मजबूत दिखाने की कोशिश का रही थी....पता नही कैसे वो अपनी आँखो से आँसू बहने से रोक पा रही थी...में लगातार उसको वहाँ काम करते हुए देख रहा था....लेकिन उसने मुझे देख कर भी अनदेखा कर दिया....

News