गुजराती सेक्सी वीडियो चोदने वाला

बलात्कारी सेक्सी

बलात्कारी सेक्सी, दोनो ही एक दूसरे से बुरी तरहा चिपक गये. फिर कामया विमल के उपर से उठ कर उसकी बगल में लेट गई. अब विमल दो नग्न हसीनाओं के बीच में लेटा था. एक की गान्ड मारी थी और दूसरे की चूत. आनंद की एक एक लहर, एक एक अन्भुति जो विमल उसके जिस्म और दिलो दिमाग़ में भर रहा था वो कामया को जी भर के पछताने पे मजबूर कर रही थी, क्यूँ रही दूर वो इस आनंद से. और आज भी अगर सुनीता से उसे ईर्ष्या ना होती तो वो इस आनंद से वंचित रह जाती.

उसके होंठों का रस पीते हुए रमण उसके रोज़ को दबाने लगता है. ऋतु की साँसे तेज चलने लगती हैं, दिल की धड़कन बढ़ जाती है, वहीं रमण का भी कुछ ऐसा ही हाल था. सच कहूँ तो अब भाई मना भी करे तब भी मैं उसे चूसे बिना नहीं रह सकती थी, मैंने लिंग के जड़ को हाथ से पकड़ा और लिंग के छेद में जहाँ से वीर्य की कुछ बूँदें चमक रही थी, में जीभ फिराई..

अम्मी ने कहा तुम्हारे अबू को मैं भेज दूँगी और नेलु को रात की टी मे एक गोली डाल के दे दूँगी सुबह से पहले नही उठे गी वो बलात्कारी सेक्सी खैर तीनो के दो दो पेग हो जाते हैं.क्यूंकी ऋतु पहली बार पी रही थी, उसे थोड़ा सरूर चढ़ने लगता है,उपर से मनोविज्ञानिक कारण भी था कि वो पहली बार पी रही थी.

बीएफ वीडियो में बीएफ वीडियो बीएफ वीडियो

  1. ये उतना बुरा भी नहीं था..मैंने उससे बता दिया था कि मैं उसे चोदना चाहता हूँ और वो भले ही लास्ट में इंकार कर के चली गयी थी पर उसने मुझे सुरुआत तो बड़े आराम से करने दिया था। सबसे बड़ी बात उसने किसी को अभी तक बताया भी नहीं था। बस मुझे थोड़ी ज्यादा कोशिश करनी पड़ेगी अपनी वासना-पूर्ति के लिए।..
  2. विमल की ज़ुबान डरते हुए सोनी के मुँह में घुस जाती है और उसे अंदर से चाटने लगती है. वो बहुत तकलीफ़ दे चुका था सोनी को अब वो ऐसा कोई कदम नही उठाना चाहता था जिस से सोनी को कोई तकलीफ़ हो. सोनी उसकी ज़ुबान अपने होंठों में दबा लेती है और उसे चूसने लगती है. नंगी फिल्म दिखाओ नंगी फिल्म
  3. नहीं शांति ..तुम जानती हो अच्छी तरेह कोई और तुम्हारी तरेह नहीं होती ..तुम लाखों में एक हो ...मैं खुश किस्मत हूँ तुम्हारे जैसी बीवी मुझे मिली .. और वो उसकी चूत जोरों से दबा देता है ... रवि का लंड चूस्ते चूस्ते ऋतु को अपने पापा रमण का खड़ा लंड दिखाई देता है, एक दिन वो भी उसके मुँह के अंदर होगा. सोच कर वो और भी उत्तेजित हो जाती है और ज़ोर ज़ोर से रवि के लंड को चूसने लगती है.
  4. बलात्कारी सेक्सी...ऋतु का जिस्म तड़पने लगता है, एक डर उसके अंदर बैठ जाता है कि कहीं वो खुद ही तो वो रेखा नही तोड़ देगी जिसमे उसने रवि को बँधा था. ऐसी होती है जिस्म की प्यास, जो इंसान को सब कुछ भूलने पे मजबूर कर देती है. जिस्म में उठती हुई चिंगारियाँ ऋतु की सिसकियों का आह्वान करने लगती हैं और ऋतु खो जाती है रवि के प्यार में. ऋतु के हाथ भी रवि के जिस्म को सहलाने लगते हैं. कसा हुआ कसरती बदन छूने पे ऋतु खुद को संभाल नही पाती और फिर उसके होंठ रवि के होंठों से भिड़ जाते हैं.
  5. निशा- मुस्कुरा अरे मेने जिसका लंड देखा है उसे तू नही जानती है वह ग़लती से मुझे नज़र आ गया था, पर तूने क्या मेरी बात सुन के अम्मी रोने लगी और कहने लगी नसीर प्लज़्ज़्ज़्ज़्ज़ मैं तुम्हारी मा हूँ ऐसा मत करो और मेरे पेरो मैं गिर गईं

बच्चे कहां से पैदा होते हैं

विमल रात भर सो नही पाया एक तरफ सोनी का जवान जिस्म और दूसरी तरफ उसकी कयामत से बढ़ कर सुंदर माँ. वो दोनो के लिए ही तड़प रहा था. बस यही सोचता रहा कैसे आगे बढ़े. पहले सोनी या माँ या फिर दोनो पे ट्राइ करे जो भी पहले राज़ी हो जाए.

खाने के बाद सुनीता विमल से ये कह कर कि वो नहा कर अभी आती है अपने कमरे में जा कर सूटकेस से अपने कपड़े निकालती है और बाथरूम में घुस जाती है. जब ऋतु दो उंगलियाँ अपनी गान्ड में पिलवा कर मस्ती में आ गई तो रवि समझ गया कि अब टाइम आ गया है लंड डालने का.

बलात्कारी सेक्सी,तब मैं रुक गई और उसको सीने से लगा लिया, सच में ये सुकून आज से पहले कभी नहीं मिला था.. सुधीर ने भी मुझे बाहों में जकड़ लिया और ‘आई लव यू स्वाति… आई लव यू स्वाति…’ की रट लगा दी और मेरे मस्तक गालों और होंठों पर चुम्बनों की झड़ी लगा दी।

अब पानी शाही स्नान के लिए तैयार था। शाही स्नान में और भी चीजें होती होंगी, पर मैं उस समय जितना कर सकता था किया।

कामया : (रमेश को पानी का ग्लास पकड़ाते हुए) जी कल सुनीता आ रही है. आज देर से उसका मेसेज आ जाएगा फ्लाइट डीटेल्स के साथ. मैं सोच रही थी कि हमने जो घूमने का प्रोग्राम बनाया है सुनीता को भी साथ ले चलें.नंगी नंगी लड़कियों के फोटो

दोनो एक दूसरे को ज़ुबान से चोद रही थी, बीच बीच में अपने दाँत भी गाढ रही थी, एक अपने दाँत गढ़ाती तो बदला लेने के लिए दूसरी भी अपने दाँत गढ़ा देती. पर हमारे आज के सम्बन्धों के लिए किमी ने कहा है कि मैं जब तक चाहूँ ऐसा ही सम्बन्ध बनाये रख सकता हूँ, किमी मेरे लिए पूर्ण रुप से समर्पित है।

दलीप का पूरा जिस्म झड़ते हुए जोर से कांप रहा था | निशा अचानक अपने पिता के लंड से गर्म वीरज को अपने मुंह में महसूस करके जितना हो सकता था चाटने लगी और बाकी का वीरज उसके होंठों से निकलकर निचे गिरने लगा | थोड़ी ही देर में दोनों बाप बेटी निढाल होकर अपने मुंह को एक दुसरे से अलग करके जोर से हांफ रहे थे |

हड़िया ने कहा तुम पीने वाले तो बनो मैं क्या क्या पिलाउन्गि तुम सोच भी नही सकते तभी अपी ने कहा हां भाई रात को इस का दूध अच्छी तरहा से पीना,बलात्कारी सेक्सी मैंने ओअअअ कहते हुए मुंह बनाया और पीछे हट गई.. लिंग में तनाव आना शुरू हो चुका था। तभी रेशमा ने ‘जा मर कुतिया, तू ही बाद में पछतायेगी!’ कहते हुए.. लिंग मुंह में ले लिया और बड़े मजे से चूसने लगी।

News