एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो दिखाइए

लड़की का चूची दिखाओ

लड़की का चूची दिखाओ, मनिका ने जाते हुए उसे थेंक्स भी कहा...और फिर अपने पापा के साथ वो एक बार फिर से मस्ती के खेल में शामिल हो गयी. स्वीटी आगे बढ़ कर प्रीति के होठों को छूने लगी.. फिर धीरे से बोली.. अपने भाई के इतना ना निचोड़ लेना कि मेरे लिए कुछ बचे ही नही... मेरी भी चूत इसके मोटे लंड के लिए तरस रही है.

वो उसी तरह अपनी बत्तीसी निकालते हुए बोला सॉरी-सॉरी जाने मन मुझे ध्यान ही नही रहा. कि तुम्हारी चूत को अभी मोटे और लंबे लिंग झेलने की आदत कम है पर विकास ने उसे तसल्ल्ली देते हुए कहा अरे मेरी जान बस थोड़ा सा दर्द होगा कसिए भी कर के ये दर्द बर्दाश्त कर लो फिर तुम्हे मज़ा ही मज़ा आएगा.

संजय ने जिस तरह से मेरी तरफ देख कर मुझे रंडी कहा था. मन तो ऐसा किया कि एक तमाचा उसके मुँह पर खीच कर मार दू. पर अपनी इस हालत की मैं खुद ही ज़िम्मेदार थी. उन रंडी शब्द को सुन कर मुझे इतनी गिल्टी फील हो रही थी. मेरी आँखो मे अपने आप आँसू निकल आए. लड़की का चूची दिखाओ उधर उत्तेजना के मारे अनन्या का भी बुरा हाल था इसलिए उसने भी धीरे से अपनी जींस की ज़िप खोल कर उंगली डालकर अपनी योनि को सहलाना शुरू कर दिया था।

सेक्सी बीएफ वीडियो एचडी भोजपुरी

  1. रोमा अपनी जीभ निकाल कर राज के लंड को चाट रही थी…कभी उसके लंड को अपने होंठो मे दबा-2 कर चूसने लगती…और अपने हाथ से राज के अंडकोषों को सहलाने लगती….राज अब पूरी तरहा गरम हो चुका था…उसने रोमा को उसके खुले हुए बालों से पकड़ लिया….रोमा एक दम से घबरा गयी….
  2. मेरे घर मे अंदर आते ही उसने तुरंत कुण्डी लगा दी. उसके इस तरह से कुण्डी लगाने से मैं बुरी तरह से हड़बड़ा गयी. मौसम विभाग कैसा रहेगा
  3. विशाल: मे जानता हूँ इसका क्या करना है.(विशाल पीछे मूड कर उन दोनो की तरफ देखता है) तुम दोनो तैयार हो जाओ. अब देखते हैं, तुम्हारे बाजुओ मे कितनी जान है. नेहा अपनी चूत को मसल्ति रही और राज को लंड पर मूठ मारते देखती रही कि तभी राज के लंड ने एक ज़ोर की पिचकारी छोड़ी और वीर्य छूटने लगा.....
  4. लड़की का चूची दिखाओ...राज : बस यहीं अपने गाँव की ज़मीन आज देख पाया हूँ. कल बाकी की ज़मीन भी देख आउन्गा. और सभी मजदूरो से मिल कर आउन्गा. कोई भला चूतिया ही होगा जो अपनी इतनी हसीन बीवी को यूँ छ्चोड़ दे.. मनीष ने मेरे बाए मम्मे को छ्चोड़ मेरे दाए मम्मे को मसलना शुरू कर दिया..
  5. और पूनम तेज़ी से अपनी कमर को ऊपेर की ओर उचका कर रवि के लंड को अपनी चूत के अंदर बाहर करने की कॉसिश करने लगी. उसकी चूत अब पूरी तरहा गीली हो चुकी थी. और रवि के लंड को अपनी दीवारों मे कस-2 कर मसल रही थी. रसीली – ओकक ठीक है लेकिन मे इस काम का 1000 रुपया लूँगी…. मंजूर है तो ठीक है वरना यहाँ से काल्टी हो जाओ …

दसवीं का रिजल्ट कितने बजे आएगा

फिर राज ने वो किया…जिसका रोमा को डर था…राज उसकी तरफ घूम गया… रोमा एक दम से चोंक पड़ी…उसने अपने हाथों को हटा लिया…और अपनी चुचियों पर रखने लगी…पर राज ने उसके हाथों को पकड़ लिया….और होंठो पर वासना से भरी मुस्कान लाते हुए बोला..

पर रवि तो जैसे उसकी बात को सुन ही नही रहा था, वो तो एक हाथ से पूनम की चूत के फांकों को फैला कर चूस रहा था. और दूसरे हाथ से उसकी टाँगों को ऊपेर उठाए हुए था. पूनम नीचे लेटी जलबीन मछली की तरह तड़पते हुए सिसकारियाँ भर रही थी. सुमन: काका आप तो जानते हैं कि, साहिल अब बड़ा हो गया है, अब राज को उसके अंजाम तक पहुँचाने का टाइम आ गया है. इसके लिए आप को मेरी मदद करनी होगी.

लड़की का चूची दिखाओ,अब तो तुमने देख लिया अब यहाँ से चले जाओ और मुझे शांति से जीने दो. मैने अपनी नज़र उठा कर उसकी तरफ देखते हुए कहा.

मैं: ललिता देख आज के बाद तुम राज की कोई बात नही मनोगी….और ना ही उसके पास आज के बाद जाओगी…समझ रही हो ना….

रसीली - सुलग रहा है ये जिस्म तुम्हारा आज मेरी जान... अपने प्यार से भुजाओ मेरे तनमन मे लगी इस आग को .... ये सुनते ही राजीव ने रसीली के कपड़े उतार दिए. अब रसीली एक दम नंगी हो गयी. उसकी चूत एक दम सॉफ थी. फिर रसीली लेट गयी तो राजीव ने उसकी चूत पर अपनी जीभ फिरानी शुरू कर दी.जापानी इन्सेफेलाइटिस

अंकित तो जैसे जन्नत मे पहुँच गया था वो सिसकारिया भरते हुए बोल रहा था – आहह ओह रसीली क्या मस्त लोड्‍ा चुस्ती है तू साली रंडी…आह और अंदर तक लेजा मेरा लंड….पीजा इसे पूरा लेके अपने मूह मे साली कुतिया …रनडिीइ…!!! नही ऐसा मौका कभी नही मिला.. हां पर जब साहिब की छुट्टी होती है तो साहिब मेम्साब को एक दूसरे से लिपट’ते हुए ज़रूर देखा है..

राज बेड पर चढ़ गया. और ललिता के ऊपेर आ गया. जैसे ही राज का वजन ललिता ने अपने बदन पर महसूस किया. ललिता का बदन उतेजना के मारें काँपने लगा. ललिता ने अपनी मदहोशी से भरी हुई आँखों को खोला. और दोनो एक दूसरे की आँखों मे देखने लगी.

क्या इरादा है तुम्हारा आज सुबह-2 ही शुरू हो गये हो… भाभी ने अपने दोनो हाथ ऊपेर उठाए और पीछे लाते हुए राज के सर को पकड़ लिया….,लड़की का चूची दिखाओ तुम्हे में कैसे मना कर सकता हूँ.. तुम तो मेरी प्यारी गुड़िया बेहन हो राज ने कहा. प्रीति ने अपने कपड़े उतारने की जहमत नही उठाई सिर्फ़ अपनी स्क्रिट को उपर कर पलंग के किनारे पर अपनी टाँगे नीचे किए लेट गयी...

News