हिंदी सेक्सी पिक्चर चोदने वाली

मोटी मां की चुदाई

मोटी मां की चुदाई, वो – हां तो ठीक है, चले जाना खाना खाने उसमें क्या है, वो भी तो अपना ही घर है… लेकिन सोने तो आओगे, या फिर सोना भी…..और अपनी बात अधूरी छोड़ कर वो मुस्कारने लगी.. मे – हां भाभी आज टीचर ने ढेर सारा होम वर्क दे दिया है, उसी को निपटा रहा हूँ. वैसे हो ही गया है बस थोड़ा सा ही और है.

फिर मेने कुछ बीयर मॅंगा कर फ्रीज़र में रखवा दी.. और मालती का वेट करने लगा.. अभी 9 बजे भी नही थे कि डोरबेल बज उठी… वो – आप मेरी जगह होते तब पता चलता आपको की आप क्या हैं.. सच में निशा कितनी भाग्यशाली है.. की आप जैसा हॅंडसम उसका लवर है… और इसमें कोई गुंजाइश भी नही है.. की एक दिन आप दोनो एक भी हो जाओगे…!

मेने सकपका कर अपनी नज़र दूसरी तरफ फेर ली, और तिर्छि नज़र से देखा, खुशी मेरी हालत को देखकर मंद-मंद मुस्करा रही थी…! मोटी मां की चुदाई बाबूजी की आवाज़ सुनते ही चाची झेंप गयी…, उन्होने बाबूजी का हाथ अपनी चुचियों से हटा कर चारपाई पर रख दिया, और उठ कर खड़ी हो गयी…!

हिंदी सेक्सी वीडियो गांव वाला

  1. इसी कशमकश में उलझा आदम मुँह हाथ धोके थाली में खाना सज़ाया कमरे में दाखिल हुआ और फुरती से दरवाजा लगाया....दरवाजे की आहट पा निशा जो घुटनो के बल सर रखके आँखे मूंदी हुई थी एकदम से सर उपर उठाए आदम की ओर देखके सहम उठी...उसकी आँखो के नीचे जैसे काले घेरे हो गये थे...
  2. कुच्छ देर बाद मुझे राहत सी हुई.. तो भाभी पूरी तरह मेरे उपर बैठ गयी और मेरा पूरा साडे सात इंच लंबा और ढाई इंच मोटा लंड अपने अंदर घोंट लिया.. హైదరాబాద్ సెక్స్
  3. ज़ोर लगाने के लिए मे जब आगे को झुकता तो हम दोनो के गाल एक दूसरे से रगड़ जाते.. और पूरे शरीर में एक सनसनी सी फैलने लगती. वो – मज़ा..? मेने आज पहली बार जाना है कि चुदाई ऐसी भी होती है… इससे ज़्यादा जिंदगी में और कोई सुख नही हो सकता… सच में…
  4. मोटी मां की चुदाई...ना जाने क्यों जितना सुकून और संतुष्टि सेक्स करने में मुझे भाभी के साथ होती थी, वो किसी और के साथ में नही होती थी… मे – ठीक है चाची, आप कहती हैं तो ट्राइ मारके देखता हूँ… ये कह कर मे चाची को किस कर के, उनके आमों को तोड़ा सहलाया, और किचन की तरफ बढ़ गया.
  5. भाभी ने हंस कर प्यार से मेरी पीठ पर एक धौल जमाई… और फिर मेरे मूसल जैसे लंड को अपनी मुट्ठी में लेकर उसे निशा की चूत के होंठों पर रगड़ा.... हम जब उसके घर पहुँचे तो घर में अकेली उसकी माँ थी, उसके भाई राजेश शहर में नौकरी पर थे, जो हफ्ते के हफ्ते ही आते थे, पिताजी अभी खेतों से आए नही थे..

চমৎকার বিপরীত শব্দ

अपने को एक अजनबी जगह पर पाकर मे झटके से उठ कर बैठ गया…झटके के कारण मेरे कंधे में दर्द की एक टीस सी उठी.. और मेरे मुँह से एक कराह निकल गयी…

मेने सरकारी वकील से सवाल पुछ्ने के उद्देश्य से कहा – मी लॉर्ड ! मे सरकारी वकील से कुछ सवाल करना चाहूँगा… भैया – देख लो आप…! पहले कम से कम अपने परिवार में ही चर्चा करके देखो, चाचा लोग क्या कहते हैं.., उनका सहयोग भी तो होना चाहिए…

मोटी मां की चुदाई,एक पल को निशा बौखलाए दौड़ी उसके अपने ससुराल में प्रस्तुत देख चौंक उठी..तो इधर अंजुम उसे एकटक घूर्रने लगी जैसे उसे आभास हुआ हो कि मेहमान नही उसके घर को उजाड़ने वाला राक्षस सामने खड़ा है वो पास आया उसने अंजुम के पैर छुए...उससे फेमिलियर होने लगा...

शाम से पहले हम खजुराहो के पास पहुँच गये…, हाइवे से हटकर थोड़े से जुंगली इलाक़े में हमने अपनी बस रोकी,

देखो बेटे… मे यहाँ अपनी बेटी और लड़के की हरकतों के लिए तुम्हारे पिताजी से माफी माँगने जाने वाला था.. फिर सोचा उससे पहले तुम से मिल लूँ..!तृषा कृष्णन xxx

शाम को भाभी टीवी के सामने बैठ कर सब्जी काट रही थी, दीदी बड़ी चाची के यहाँ गयी थी, नीलू भैया से नोट्स लेने.… हमने सबके बैठने की लिए कुर्सी डाल दी… लेकिन वो अपने ऑफीसर के सामने बैठ नही सकते थे… सो आकर खड़े हो गये…

पहली बार मेने उसकी प्यारी मुनिया के दर्शन किए, जो अपने बंद होठ किये हल्के बलों के बीच सूरज की तेज रोशनी में किसी कली की तरह चमक रही थी..

फिर भाभी के मस्त गदराए हुए कुल्हों को मसलकर और ज़ोर से अपनी तरफ दबाया, मेरा पप्पू उनकी मुनिया के दरवाजे को खट-खटा रहा था,,मोटी मां की चुदाई छोटी चाची – चाचा अपने बच्चे के साथ खुशी – 2 जीवन जी रहे थे…मेरे पास अब ज़्यादा ऑप्षन नही बचे थे अपने लंड को शांत करने के…

News