गरोदर आहे हे कसे समजते

जवान लड़की की चूत

जवान लड़की की चूत, गाली नहीं देने का । रोमेश बोला, हाँ तो रामानुज, क्या तुम अदालत को बता सकते हो कि तुम मुझे कैसे जानते हो ? देखो, बेटी मैं नहीं जानता की उस लड़के और तुम्हारे बीच क्या है क्या नहीं है , पर एक बाप होने के नाते मेरा इतना तो हक़ है की तुमसे पूछ सकू राणा ने पासा फेका

वो- रिश्तो की ऐसी भूलभुलैया में सब उलझे थे की किसी को कुछ समझ नहीं आ रहा था , खैर, कुंदन ने आयत और पूजा दोनों से विवाह कर लिया अपनी दो पत्नियों और जस्सी के साथ रहने लगा था वो . मैं- प्रिया का शेप... काश प्रिया कल ब्रा-पैंटी में एक बार खड़े होकर मॉडल की तरह वाक करके दिखाती तो लाइफ बन जाती। (सुनकर प्रिया शर्म से मुस्कुराने लगी, उसका चेहरा लाल हो गया।) विजय ने जोर से ठहाका मारा, तृप्ति ने मुझे धीरे से मारा।

आठवें दिन भी रोमेश का फोन चर्चगेट से आया । यहाँ भी वह धता बता गया । अब स्थिति यह थी कि रोमेश रोज ही विजय को दौड़ा रहा था, दूसरे शब्दों में पुलिस को छका रहा था । जवान लड़की की चूत हमें ऐसा इल्म हुआ है जैसे इंस्पेक्टर तेजस्वी वास्तव में वह चीज नहीं है जैसा नजर आ रहा है—उसके दिल में कुछ और है, कोई बड़ा लक्ष्य—शायद स्टार फोर्स को नेस्तनाबूद कर डालने से भी बड़े लक्ष्य को लेकर प्रतापगढ़ आया है वह।

दिल्ली का सेक्सी बीएफ

  1. वह फौरन राइफल संभाले दुर्लभ ताज के पास यूं तनकर खड़ा हो गया- मानो अगर आज उस ताज को चुराने दुनिया की कोई भी ताकत उसके सामने आ गयी, तो वह अकेला ही उसे तहस-नहस कर डालेगा ।
  2. अभी तो हम दोनों एक-दूसरे के आगोश में थे लेकिन अब जिंदगी में कभी ऐसा मौक़ा दोबारा आएगा या नहीं… और अगर आएगा भी तो प्रिया पॉजिटिव रेस्पॉन्स देगी या नहीं, इस का जवाब तो भविष्य के गर्भ में ही था. ब्लू फिल्म सेक्सी चलती हुई
  3. इधर प्रिया मेरे लिंग का भुरता बनाने पर तुली हुई थी, जोर जोर से लिंग दबा रही थी, चुटकियां काट रही थी और लिंग के शिश्नमुण्ड को अपनी उँगलियों में दबा दबा कर रस निकालने की कोशिश कर रही थी और बदले में मैं प्रिया के दोनों उरोज़ चूम रहा था, यहाँ-वहाँ चाट रहा था, निप्पल्स चूस रहा था। आज तुझे मेरे सवालो का जवाब देना होगा, आज यहाँ से तब तक नहीं जाउंगी मैं जब तक तू मुझे नहीं बताती, आखिर क्या कसूर था मेरा, सबकी तकदीरे तूने लिखी है , मेरे दुःख का कारन भी बता मुझे , देख माँ मुझे मजबूर मत कर गुस्से से बोली वो
  4. जवान लड़की की चूत...हां … हां, हमने ऐसा कहा था और ये ठीक भी है। डॉक्टर शुक्ला ने इस तरह कहा जैसे सचमुच उसे अपनी कही बात शांडियाल के याद दिलाने पर ही याद आई हो—मगर इस देशराज के बच्चे की जिद्द के आगे भला चलती किसकी है! जिद्द करके आईने तक आ ही गया। रणविजय- मेरे तो कल तृप्ति के बूब्स के शेप और गोरी चमड़ी को देखकर हाल ही बिगड़ गए थे। मैंने तो ख्यालों में तृप्ति का ही चोदन किया। पूरी रात प्रिया बोलती रही कि इतने जंगली क्यों हो रहे हो?
  5. ल-लेकिन अब ब्लैक फोर्स के इस मैम्बर की जानकारी में यह आ जाने से भी तो योजना चौपट हो गई कि जिसे वह जुंगजू समझ रहा था, वह पुलिस का आदमी है? क्यों मजाक करता साहब, मेरे को डराता है क्या ? इधर गुण्डे-मवाली लोग भी चाकू खरीदते हैं, लेकिन इस तरह मर्डर की बात कोई नहीं बोलता ।

सेक्सी व्हिडिओ बघायचे

अभी मैं फ्लैट के बंद दरवाजे पर पहुंचा ही था कि अंदर से इंस्पेक्टर तेजस्वी के जोर-जोर से बोलने की आवाज कानों में पड़ी—वह खुद को व्हाइट स्टार कह रहा था।

आप उस सबकी फिक्र न करे, जे.एन. साहब बड़े ही शेर दिल आदमी हैं । उन्हें इस तरह डरा देना भी ठीक बात नहीं प्लीज ! उनका वैसा ही वेलकम करें, जैसा करती हैं । तनावमुक्त हो जायेंगे और ठीक से रात भी कट जायेगी ।'' मायादास ने फोन काट दिया । उफ्फ … बेवकूफ आदमी! ठक्कर झुंझला उठा—तुम इस बहस में उलझकर वे क्षण गंवा रहे हो जिसमें तबाही आ सकती है—उन्हें फौरन जगाकर सूचना दो कि ठक्कर बात करना चाहता है।

जवान लड़की की चूत,तृप्ति आश्चर्यचकित होते हुए- ओ गॉड और वह किसके साथ? सीमा और श्लोक तो यहां हैं, तो फिर तुम मुझे वहां क्यों बुला रहे हो?

एक ऐसा किस्सा बनने वाला था जोकि विश्वास से परे था, उत्तेजना से भरपूर था, रोमांच को चरम पर पहुंचाने वाला था। इस स्वैपिंग में तृप्ति का सेक्स पार्टनर वह था जिसके साथ यह सब करना तृप्ति कभी सोच भी नहीं सकती थी और मेरी पार्टनर भी ऐसी ही महिला थी।

उसका बोझ तुम उठा नहीं पाओगे उसके कहे शब्द मेरे कानो में गूँज रहे थे आखिर क्या मतलब था उनका, मैंने ताबीज को गले से उतार कर हथेली में रखा, मुश्किल से बीसों ग्राम का होगा या तीस का तो फिर क्या बोझ था उसमे, मैंने लोकेट खोल कर उन दो तस्वीरों को देखा , पर क्या देखा, देखने लायक थी ही नहीं वो.नेपाल की सेक्सी दिखाइए

जे.एन. ने फोन पर कोई जवाब नहीं दिया और रिसीवर क्रेडिल पर रख कर फ़ोन काट दिया । दोबारा फोन की घंटी न बजे इसलिये उसने रिसीवर क्रेडिल से उठाकर एक तरफ रख दिया । इतनी सी देर में उसके माथे पर पसीना भरभरा आया था । पहली बार जे.एन. को खतरे का अहसास हुआ । फॉल्स सीलिंग की छत और लगभग एक फुट चौड़ी प्लास्टर पेरिस की परत चढ़ी दीवार में दो दर्जन से भी ज्यादा रंग-बिरंगे बड़े-बड़े हैरीजन बल्ब लगे हुए थे, जिनका तीखा प्रकाश आपस में एकाकार होकर माहौल में विचित्र-सा माधुर्य बिखेर रहा था ।

अतः सबकी सहमति के अनुसार आज हमने अलग-अलग ही चुदाई करने का फैसला किया इस तरह मैं उपासना को अपनी गोद में उठाकर दूसरे कमरे अर्थात विक्रम और उपासना के कमरे में ले गया। इस कमरे में विक्रम और तृप्ति को युद्ध स्तर पर चुदाई करने के लिए अकेले छोड़ दिया।

बरसती रात में एक साया टूटे चबूतरे के पास खड़ा था , बारिश हो या न हो जैसे उसे कोई फर्क नहीं पड़ रहा था , वो आँखे बस उस चबूतरे को घूरे जा रही थी ,,जवान लड़की की चूत अपमान की ज्वाला में भस्म हुए जा रहे थारूपल्ला के जबड़े भिंच गए—आंखों में खून उतर आया, एक-एक शब्द को चबाता चला गया वह—मैं अपना अपमान सहन कर सकता हूं इंस्पेक्टर—ब्लैक स्टार का नहीं!

News