अक्षरा सिंह sex

سیکسی ویڈیو سیکسی

سیکسی ویڈیو سیکسی, ‘कौन नहीं चाहता कि उसकी बेटी ऊँचे कुल की बहू बने, फिर पार्वती जैसी बेटी-आज पार्वती का पिता जीवित होता, तो दूर-दूर से लोग न्यौता लेकर आते।’ शालिनी मेरे सामने खड़ी हो कर अपने हाथ उपर करके बाल संवार रही थी जिससे उसकी चूचियां काफ़ी बड़ी लग रही थीं, मेरे लौड़े में फिर से तनाव आने लगा, फिर वो पानी की बोतल सर के पास रख कर मेरे बगल में लेट गई, हम टीवी देख रहे थे, तभी टीवी में मर्डर फिल्म का गाना आ गया... कभी मेरे साथ कोई रात गुजार...

अंकल बिस्तर के नीचे खड़े हुए सलोनी की पतली कमर को थामे हुए थे, उनकी नजर ठीक सलोनी की सबसे सेक्सी और सुंदर भाग, उसकी बेशकीमती चूत पर थी… शालिनी पीछे कमरे में जाकर चेंज करने लगी मगर उसने दरवाजा सिर्फ ढलका दिया, लाक नहीं किया । मैं भी शालिनी के निकलने के बाद कमरे में जाकर चेंज करने लगा ।

सुबेह मैं आज फिर से उन बीती यादों को अपनी डायरी में लिखती चली गयी....जो मेरे साथ अब तक हुआ था......डायरी ख़तम कर मैं विशाल के लिए चाइ बनाने लगी......एक बार फिर से मेरी आँखें नम हो गयी थी मम्मी पापा को याद करके........ سیکسی ویڈیو سیکسی मैंने मोबाइल निकाल समय देखा… करीब आधा घंटा मुझे घर से निकले हो गया था… मधु भी वहाँ थी तो अरविन्द अंकल सलोनी से ज्यादा मजा तो नहीं ले पाये होंगे… और मैंने तो यहाँ पूरा काम ही कर दिया था…

ब्लू सेक्सी हिंदी वीडियो

  1. अचानक वायलन का तार टूट गया। तार के टूटते ही पार्वती का पाँव फिसला और वह नीचे जा गिरी। राजन चिल्लाया-‘पार्वती... पार्वती’, परंतु पार्वती की एक चीख सुनाई दी और सन्नाटा छा गया। राजन तेजी से नीचे पहुँचा, पार्वती पत्थरों पर पड़ी कराह रही थी। सिर से रक्त बह रहा था।
  2. विशाल- यही की आज मैं कुछ नहीं करूँगा जो कुछ करोगी तुम करोगी......यू समझ लो कि मुझे सेक्स के बारे में कुछ पता नहीं....तुम मुझे चोदना सिखाओगि....... करवा चौथ पर क्या गिफ्ट दे
  3. मैं- हां माम ,, मुझे तो वैसे भी बाहर की कोई चीज पसंद नहीं,,, घर में अगर सब कुछ मिल जाए तो वो ठीक रहता है और सेफ भी ,,, जब वह स्टेशन के बाहर पहुँचा तो रिक्शे वालों ने घूमकर आशा भरे नेत्रों से उसका स्वागत किया। राजन ने लापरवाही से अपनी गठरी एक रिक्शा में रखी और बैठते हुए बोला-‘सीतलवादी’।
  4. سیکسی ویڈیو سیکسی...शाज़िया की पीठ मेरी ओर थी… जब वो झुकी तो उसकी कुर्ती उसके मोटे चूतड़ों से ऊपर सरक गई…ओह माय गॉड… उसके विशाल चूतड़ केवल सफ़ेद टाइट पजामी में मेरे सामने थे…उसके चूतड़ उसकी उस इलास्टिक वाली पजामी में नहीं समां रहे थे… बातें करते हुए हम माल की दूसरी फ्लोर पर आ गए और बिग बाजार में प्रवेश किया,,, क्योंकि एवरेज बजट में डेलीवियर वहां काफी अच्छे मिल जाते हैं।
  5. मेरे लाख कहने पर भी उसने किसी भी कपड़े का ट्रायल नहीं किया । हम दोनों को आज की शॉपिंग में बहुत मजा आया था पिछली बार की शॉपिंग में शालिनी शर्मा रही थी इस बार सबसे पहले अपने लिए ब्रा और पैंटी खरीदी वो भी मुझे दिखा दिखाकर अलग अलग डिजाइन डिफरेंट फैब्रिक की । मगर ऐसा कुछ नहीं हुआ, जरा सी देर में ही मैंने देखा नलिनी भाभी सीधी हो अपनी दोनों टाँगें खोले अंकल को अपनी चूत चटवा रही थी और इधर सलोनी मेरे लण्ड को अपने गले तक अंदर ले रही थी, बहुत ही हॉट तरीके से चूस रही थी.

क्सक्सक्स तेंतकिओं साद

मैं बस इतना सोच रहा था कि सलोनी एक जिस्म पर एक भी कपड़ा नहीं है और वो इसी कमरे में केवल एक चादर ओढ़े लेटी है जिसमें मेरे अलावा दो और आदमी भी हैं.एक अरविन्द अंकल… चलो उनकी तो कोई बात नहीं… वो तो काफी कुछ देख और कर चुके हैं, मगर एक अनजान वेटर? यह पता नहीं क्या क्या सोच रहा होगा?

उसकी कमर से लेकर चूतड़ों तक पारस का वीर्य फैला था। वो जल्दी जल्दी साफ़ करते हुए पीछे मुड़ कर बाथरूम की ओर भी देख रही थी। अंकल- तू भी न.. जब बो बोल रही है तो.. उसको बताने में क्या हर्ज है.. उसकी जॉब लगी है.. उसके लिए कितनी ख़ुशी का दिन है…

سیکسی ویڈیو سیکسی,मैं- हां,, तो और बात क्या करें,, आई लाईक करेंट अफेयर्स,, सो करेंट अफेयर में आज का टापिक है... राहुल और सोनिया का रोमांस,, कैसा लगा??

वो कुछ मिनट बाद बाहर आई कपड़े बदल कर और उसने टी-शर्ट कैप्री पहनी हुई थी,,, हम तीनों साथ में बैठ गए और चाय नाश्ता करने लगे,,,,

अरविन्द अंकल- लो देख लो… हम मर्दों का नाम वैसे ही ख़राब कर रखा है. अब ये कैसे मस्ती ले रही है… हा हा हा…राजस्थानी भाभी सेक्स वीडियो

अभी मैं कुछ सोच ही रहा था कि शालू ने एक और हरकत कर दी…उसने ऐसे जाहिर किया जैसे उसको कुछ पता ही नहीं है, वो तेज आवाज में बोली- अररररर ऐ एई… तू यहाँ रोज़ी…?और स्वभाविक ही रोज़ी ने घूमकर उसको देखा… अगर वो अपनी मर्जी से कर रही होती तो मुझे कोई ऐतराज नहीं होता मगर यहाँ तो सब कुछ अलग था जिसे मैं कभी पसंद नहीं कर सकता था.

सागर- शालिनी , अगले वीक से तुम्हारे क्लासेज़ शुरू हो जायेंगे, कल शाम को चलकर तुम्हारी बुक्स वगैरह ले लें और कुछ कपड़े भी...

मगर इससे क्या होता है, किस्मत में तो शयद कुछ और ही लिखा था… मेरे साथ आज तक ऐसा नहीं हुआ था, मेरा कभी ऐसा कुछ पुलिस से पाला भी नहीं पड़ा था…,سیکسی ویڈیو سیکسی विशाल ने अपने जेब से एक लॉकेट निकाला और उसे मेरे गले में मुझे पहना दिया.......वो लॉकेट बीच से खुलता था......जब मैने उसे खोला तो उसमे एक तरफ मेरी तस्वीर थी तो दूसरी तरफ विशाल की तस्वीर थी......मैं उस लॉकेट को चूम कर उसे अपने गले में पहनकर उसे अपने सीने में कहीं छुपा लिया........

News