ಬ್ಲೂ ಫಿಲಂ ಪ್ಲೀಸ್

चचेरी बहन को चोदा

चचेरी बहन को चोदा, विवाहिता के बाद विधवा भी । माया देवी बोली, उचित होगा कि मेरी प्राइवेट लाइफ के सम्बन्ध में आप कोई प्रश्न न करें । खासतौर पर सोनपुर के उन गुण्डे-मवालियों को देखकर तो राज की बड़ी ही हवा खुश्क होती थी, जो जरा-जरा सी बात पर ही चाकू निकालकर इंसान की अंतड़ियां बिखेर देते हैं ।

गुस्से के कारण थारूपल्ला का बुरा हाल था परंतु परिस्थितियों के चक्रव्यूह में जकड़ा हुआ वह कुछ कर न पाया—अंततः पैर पटकते हुए अपनी जीप की तरफ बढ़ना पड़ा। ऐसे ही आपस में हंशी मजाक करते हुए हम देव गढ़ की तरफ बढ़ रहे थे, जल्दी ही आबादी खत्म हो गयी , सुनसान इलाका शुरू हो गया . रस्ते पर पत्ते पड़े थे, छोटे मोटी टहनिया पड़ी थी

रणविजय- भाई यहाँ का पॉर्न मूवी कलेक्शन भी जोरदार था। एक थ्रीसम वाली मूवी थी। मजा आ गया। उसमें यार बताऊँ क्या होता है? चचेरी बहन को चोदा क्या आज तुम्हें अपनी इज्जत, अपना सम्मान फोर्स के फायदे से बड़ा नजर आने लगा थारूपल्ला? ब्लैक स्टार कहता चला गया—क्या तुम फोर्स के किसी बड़े फायदे के लिए जलील होने से इंकार करते हो?

बहू की चूत की चुदाई

  1. शाम को फुर्सत से करूंगा, अभी तो मुझे कुछ काम निबटाने हैं, लगता है अब हमारे दिन फिरने वाले हैं । अच्छे कामों के भी अच्छे पैसे मिल सकते हैं, वह दिल्ली में मेरा एक दोस्त है ना जो डिटेक्टिव एजेंसी चलाता है ।
  2. जब मैं वहां पर पहुंचा तो आरती खत्म हो गयी थी, लोग मंदिर से निकल रहे थे, सीढिया चढ़ते हुए मैं बस मंदिर के आँगन में पहुंचा ही था की मेरा सामना उन्ही लडको से हो गया , जो मुझे मेले में मिले थे, उनमे से एक मुझे पहचान गया . ट्रेन का आविष्कार किसने किया
  3. विवशता के कारण उनकी कसमसाहट उस आदमखोर शेर जैसी थी जिसे चारों तरफ आदमी-ही-आदमी नजर आ रहे हों मगर स्वयं मजबूत पिंजरे में मचल रहा हो। हाँ, वही । सावंत का सबसे प्रबल राजनैतिक प्रतिदन्द्वी । यह तीन हस्तियां हमारे सामने हैं और तीनो ही अपने-अपने क्षेत्र की महत्वपूर्ण हस्तियां हैं । सावंत की मौत का रास्ता इन तीन गलियारों में से किसी एक से गुजरता है और यह पता लगाना तुम्हारा काम है । बोलो ।
  4. चचेरी बहन को चोदा...एस.पी. सिटी ने कहा—तब तो उस थाने पर ऐसे इंस्पेक्टर की नियुक्ति की जानी चाहिए जो अपनी जान की परवाह किए बगैर स्टार फोर्स के मरजीवड़ों से लोहा ले सके। वो- देख, हकीकत से न तू दूर है न मैं , तेरी जगह कोई और होता तो मैं उसकी मदद भी करती उस दिन, और ये बार बार मिलना इत्तेफाक है , तेरा मेरा सच जो है वही रहेगा.
  5. अगर बात रोमेश की है बशीर, तो यूँ समझो कि तुम बटाला से नहीं हमसे पंगा ले रहे हो । लड़ना चाहते हो हमसे ? यह मत सोच लेना कि जे.एन. चीफ मिनिस्टर नहीं है, सीट पर न होते हुए भी वे चीफ मिनिस्टर ही हैं और तीन चार महीने बाद फिर इसी सीट पर होंगे, हम तुम्हें बर्बाद कर देंगे । रोमेश की घरेलू जिंदगी में अब छोटी-छोटी बातों पर झगड़े होने लगे थे । अगर इस वर्ष रोमेश अपनी पत्नी को अंगूठी प्रेजेंट कर न पाया, तो कोई तूफ़ान भी आ सकता था । सीमा ने अब क्लब जाना बंद कर दिया था । यह बात रोमेश ने उसे एक दिन बताई ।

filmywap.com › bollywood movie

अदालत ही नहीं, सारी दुनिया जानती है कोई मुल्जिम खुद को मुजरिम साबित करने वाली स्टोरी की पुष्टि नहीं करता। यह सवाल होता है पुख्ता गवाहों और सबूतों का—वह सब हमने जुटा लिये हैं—घर जा दयाचन्द, आराम से पैर पसार कर सो—अब असलम की लाश कब्र फाड़कर कभी तेरी गर्दन दबाने नहीं आएगी।

ऐसी ही एक घटना और सुनो । जगदीश पालीवाल कार ड्राइव करता हुआ बोला-एक दूसरे चोर ने भी उस दुर्लभ ताज को चुराने का प्रयास किया था-वह अपने मकसद में तो कामयाब न हो सका-लेकिन असफल होकर जब वो अपने घर लौटा तो उसी रात उसके घर में बड़ी भयंकर आग लग गयी-जिसमें उस चोर के साथ-साथ उसका पूरा परिवार जलकर खाक हो गया । तीन अलग अलग लोग जो एक दुसरे से जुड़े थे, एक दुसरे के लिए जीते थे, एक दुसरे संग जीना चाहते थे, एक दुसरे की परवाह करते थे , एक कल का इंतज़ार कर रहे थे , उस कल का जो अपने साथ न जाने क्या लाने वाला था .................

चचेरी बहन को चोदा,नहीं वह सिरफिरा नहीं है इंस्पेक्टर ! वह मेरे इर्द-गिर्द जाल कसता जा रहा है । तुम फौरन उसका पता लगाओ । मैं तुम्हें अपने फोन नम्बर नोट करवा देता हूँ और अगर मैं कहीं बाहर गया, तो वह नंबर भी तुम्हें नोट करवा दूँगा ।

जिंदगी बस उस मंदिर और इस टूटे चबूतरे के बीच सिमट कर रह गयी थी, मैं समझने लगा था की हो न हो इस का और मंदिर के बीच कोई तो सम्बन्ध है कोई तो बात है , पर क्या ये कौन बताये कौन राह दिखाए मुझे , पर वो सुबह मेरे लिए रोशन होने वाली थी ,

हम दोनों एक दूसरे से कुछ बोल तो नहीं रहे थे लेकिन मौन सम्प्रेषण चालू था. प्रिया के शरीर में रह रह कर उत्तेज़ना की तरंग उठ रहीं थी जिन के फलस्वरूप प्रिया का हाथ मेरे हाथ पर कस कस जाता था जिन्हें मैं स्पष्ट महसूस कर रहा था. मैं निःसंदेह जन्नत में था.स्वामी विवेकानंद यांची माहिती

हाँ, तमिल हीरोइन मेधारानी ! जो अब हिन्दी फिल्मों की जबरदस्त अदाकारा बनी हुई है । मेधारानी सावंत का क्यों कत्ल करना चाहेगी यह वजह सावंत ने हमें नहीं बताई । प्रज्ञा- दोस्त के साथ ऐसे लम्हे बहुत कम मिलेंगे जिन्दगी में जब तुम होंगे मैं होउंगी और ये हसीं रात होगी, कल हम रहे न रहे ये याद तो होगी जो मेरे होंठो पर मुस्कान लाएगी.

सारा धोखा ड्रेस का ही तो है, पहली बार यहाँ आया और तुम्हें गवाह बनाने के लिये कह गया । क्या उस वक्त भी उसने चेहरा मफलर में ढ़का हुआ था ?

आज ही एक केस हुआ है—आपने सुना होगा, कमिश्‍नर साहब के भतीजे की हत्या के जुर्म में पुलिस को लुक्का नाम के बदमाश की तलाश थी लेकिन मिला उसका फेसमास्क—कहते हैं उस फेसमास्क के जरिए कोई अन्य व्यक्ति लुक्का बना हुआ था?,चचेरी बहन को चोदा देशराज के साथ बाहर आकर उसने कोठरी पुनः लॉक की—उधर अगला दरवाजा खोलकर जेलर ड्राइविंग सीट पर बैठा, इधर पिछला दरवाजा खोलकर गाड़ी में समाते देशराज ने जुंगजू की आवाज में कहा—क्या शानदार योजना बनाई है ब्लैक स्टार ने, खुद जेलर साहब मुझे अपने साथ ले जा रहे हैं …।

News